द राइट सर्कल द्वारा सैन्य कहानियों की प्रसिद्ध लेखिका रचना बिष्ट रावत के साथ अहमदाबाद में चर्चा सत्र का सफल आयोजन

व्यक्ति विशेष

प्रभा खेतान फाउंडेशन, कर्मा फाउंडेशन और हाउस ऑफ एमजी द्वारा आयोजित राइट सर्कल अहमदाबाद में शनील पारेख, लेखिका रचना बिष्ट रावत, आकृति पेरीवाल और प्रियांशी पटेल

अहमदाबाद (गुजरात) [भारत], : प्रभा खेतान फाउंडेशन एवं कर्मा फाउंडेशन के अलावा हाउस ऑफ एमजी के संयुक्त तत्वाधान में अहमदाबाद में द राइट सर्कल द्वारा सैन्य कहानियों की प्रसिद्ध लेखिका रचना बिष्ट रावत के साथ चर्चा सत्र का सफल आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में अहमदाबाद की अहसास वुमेन की ओर से प्रियांशी पटेल और शानील पारेख प्रमुख रुप से शामिल थीं।

इस आयोजन में सम्मानीय लेखिका रचना बिष्ट रावत, जिनकी पुस्तकों के पोर्टफोलियो में भारतीय सेना के बहादुर सैनिकों की वीर गाथाएँ शामिल हैं। उनकी लेटेस्ट पुस्तक ‘’बिपिन: द मैन बिहाइंड द यूनिफ़ॉर्म’’ इन दिनों पाठकों में विशेष लोकप्रिय बना हुआ हैं। इस आयोजन में प्रभा खेतान फाउंडेशन के विदेशी मामलों की मानद संयोजक एवं अहसास वुमेन ऑफ जयपुर की सदस्य आकृति पेरिवाल ने लेखिका रचना बिष्ट रावत के साथ चर्चा सत्र में कई पहलुओं पर विचार विमर्श किया।

बुकी गैलरी में आकृति पेरीवाल ने शाम के चर्चा सत्र का संचालन बेहद खूबसूरती से किया। उन्होंने बिपिन रावत के प्रेरक जीवन और कैरियर के साथ-साथ लेखिका के अपने लेखन के अनुभवों और व्यक्तिगत अंतर्दृष्टि पर प्रकाश डालते हुए रचना बिष्ट रावत के साथ इस पुस्तक से जुड़ी कई विशिष्ट पहलुओं को लेकर मनोरम बातचीत की। इस चर्चा सत्र में वार्ताकार की विचारोत्तेजक सवालों एवं इसपर लेखक के अद्भुत दिल को छू लेनेवाले जवाब को सुनकर अहमदाबाद के श्रोता मंत्रमुग्ध हो गए।

कार्यक्रम की शुरुआत से पहले हाई-टी का आयोजन किया गया, जिसमें पधारे मेहमानों को सामाजिक हित से जुड़ी सार्थक बातचीत में शामिल होने का अवसर मिला। तत्पश्चात अहमदाबाद की अहसास वुमेन की शानील पारेख ने आकर्षक उद्घाटन भाषण देकर कार्यक्रम में समां बांध दी। इस दौरान वहां उपस्थिति लोगों ने सभी विशिष्ट सम्मानीय अतिथियों का गर्मजोशी से स्वागत किया।

45 मिनट तक चलनेवाले इस चर्चा सत्र के बाद 15 मिनट का आकर्षक सवाल-जवाब सत्र का आयोजन किया गया था। जिसमें उत्साही दर्शकों ने सक्रिय रूप से भाग लिया। इस दौरान उन्होंने सम्मानीय वक्ता के साथ बातचीत की।

अहमदाबाद की अहसास वुमेन की प्रियांशी पटेल ने गर्मजोशी से धन्यवाद भाषण दिया। इस दौरान उन्होंने स्पीकर, मॉडरेटर के अलावा कार्यक्रम में उपस्थित लोगों के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त किया।

इस कार्यक्रम में रचना बिष्ट रावत ने शालीनतापूर्वक हस्ताक्षर कर अपनी पुस्तकों की प्रतियाँ अतिथियों को वितरित कीं। कार्यक्रम में पूर्व विंग कमांडर अरुण कौल ने साहित्य जगत में उनके उल्लेखनीय योगदान को पहचानते हुए रचना बिष्ट रावत को विशेष सम्मान प्रदान किया।