सर्व-स्वर्णकार युवक-युवती परिचय सम्मेलन का दिल्ली में आयोजन

देश दुनिया

परिचय सम्मेलन आज के समय में समाज की पहली आवश्यकता बनते जा रहे हैं, ऐसे परिचय सम्मेलन में वर-वधू का चयन आसान तरीके से हो जाता है ! यह बात संस्थापक अशोक आनंद वर्मा ने रविवार को प्रगतिशील क्षत्रिय स्वर्णकार सभा द्वारा तायल फार्म्स एंड रिजोर्ट्स में आयोजित सर्व-स्वर्णकार युवक-युवती परिचय सम्मेलन के शुभारंभ अवसर पर कही ! कार्यक्रम की अध्यक्षता राजेश वर्मा ने की जबकि विशिष्ट अतिथि के रूप जस्टिस राजेन्द्र कुमार वर्मा हाइकोर्ट मध्यप्रदेश मौजूद थे ! उन्होंने कहा कि अब बदलते युग में परिस्थितियों में भी बदलाव हो रहा है और लड़के लड़कियां भी अब सुयोग्य जीवन साथी चाहते हैं, ताकि उनका जीवन उनके अनुरूप हो !

इस आयोजन में ऐसे रिश्ते बनें जो आगे भी उन्हें निभा सकें ! विवाह सम्मेलन एक ईश्वरीय कार्य है ! वहीं श्री रणजीत सिंह ने कहा कि आज के समाज में विवाहों का विघटन हो रहा है ! अगर हम अपने समाज और परिवार के आधार पर शादी करें तो विवाह के बाद विघटन नहीं होंगे ! विवाह सुख नहीं उत्तरदायित्व है, और हमें इस उत्तरदायित्व को निभाना चाहिए ! उन्होंने कहा कि परिचय सम्मेलन में आप एक ऐसे जीवन साथी को चुनें जो सदा आपके साथ हो, और दोनों एक दूसरे को समझ सकें ! विवाह के लिए सुयोग्य जीवन साथी चुनना भी सबसे बड़ी योग्यता है ! 

प्रमोद कुमार वर्मा ने कहा कि आज के व्यस्त समय में अभिभावकों को अपने विवाह योग्य बेटे-बेटी के रिश्ते तलाशने में कठिनाई हो रही है ! परिचय सम्मेलन एक ऐसा मंच है जो दो परिवारों को आपस में मिलाता है ! परिचय सम्मेलन अब हर समाज की आवश्यकता बनते जा रहे हैं ! सभी समाजों ने यह परंपरा शुरू कर दी है ! हरी कुमार वर्मा ने कहा कि परिचय सम्मेलन एक सामाजिक कुंभ है और इसमें प्रत्येक समाज बंधु की भागीदारी आवश्यक है ! इसका लाभ तभी है जब ज्यादा से ज्यादा प्रत्याशी मंच पर परिचय देने के लिए आएं ! ताकि ज्यादा संबंध हो सकें ! कार्यक्रम का शुभारंभ गणेश वंदना की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर हुआ !