सभापति अमृत कलासुआ: डूंगरपुर के नेतृत्व मे  एक उभरता सितारा।

व्यक्ति विशेष

डूंगरपुर शहर में, सभापति अमृत कलासुआ एक ऐसी महत्वपूर्ण शख्सियत हैं जिनके पास विकास के लिए दृष्टि है और वो विकास के प्रति पूरी तरह से समर्पित हैं। Urgent Times के द्वारा किए गए एक सर्वेक्षण से उनके बढ़ते हुए प्रसिद्धि के दिशाओं में रोचक दर्शन मिलते हैं।

2036 मतदाताओं की एक सर्वेक्षण हमें दिखाता है कि डूंगरपुर में राजनीति कैसी दिख रही है। इससे स्पष्ट होता है कि डूंगरपुर के लोग भाजपा पार्टी को सरकार बनाने के पक्ष में हैं।

2014 के लोकसभा चुनाव में 17 करोड़ से ज्यादा लोगों ने बीजेपी को वोट दिया था। तब बीजेपी ने 282 सीटें जीतीं थी। इतना ही नहीं बल्कि, जब 2019 में लोकसभा चुनाव हुए तब 23 करोड़ से ज्यादा लोगों ने बीजेपी को  वोट दिया था। भारत की जनता को एक नयी उम्मीद नज़र आयी थी।

डूंगरपुर शहर में करीब 100,000 मतदाता होने के साथ, आगामी चुनावों में भाजपा पार्टी को लगभग 75% सीटों पर जीतने की संभावना है।

लेकिन सर्वेक्षण अमृत कलासुआ के प्रमुख और महत्वपूर्ण भाजपा पार्टी के सदस्य, और वर्तमान नगर निगम के सभापति की ओर संकेत करता है। डेटा से स्पष्ट होता है कि वह तीव्र प्रतिस्पर्धी चुनावी क्षेत्र में बड़ी जीत की ओर बढ़ रहे हैं, जिसमें मतों का लगभग 61% का अनुमान है।

आने वाले चुनावों में, भाजपा का जनसमर्थन निरंतर बढ़ता जा रहा है। भाजपा की सरकार ने ‘मेक इन इंडिया’, ‘स्किल इंडिया’, अमृत मिशन, दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना, और ‘डिजिटल इंडिया’ जैसी योजनाओं के माध्यम से भारत को आधुनिक और सशक्त बनाने की दिशा में मजबूत कदम उठाया है।

‘जनधन योजना’, ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’, ‘सुकन्या समृद्धि योजना’ जैसी अनेक योजनाएं देश में एक नयी क्रांति का आरंभ कर रही हैं। भाजपा सरकार ने देशवासियों को विश्व की सबसे बड़ी सामाजिक सुरक्षा योजना का अनमोल उपहार दिया है।

डूंगरपुर शहर के लोगो को लगता है कि अगर कोई विकास कर सकता है तो वो अमृत कलासुआ जी हैं।

इस समर्थन की एक महत्वपूर्ण वजह यह है कि अमृत कलासुआ के पास विकास के प्रति पूरी तरह से प्रतिष्ठा है। डूंगरपुरके कई निवासी तरक्की की ओर सक्रिय तौर पर कदम रख रहे हैं, विशेषकर रोजगार के अवसरों, उद्यमिता, और स्वास्थ्य से संबंधित महत्वपूर्ण क्षेत्रों में। उन्हें लगता है कि अमृत कलासुआ वो नेता हैं जो इन महत्वपूर्ण प्रगतियों को आगे बढ़ाने में सक्षम हैं, क्योंकि उन्होंने अपने पूर्व दायित्व में कई उपलब्धियाँ प्राप्त की हैं।

नगर निगम अध्यक्ष के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान डूंगरपुर के विकास और सार्वजनिक सेवाओं में काफी सुधार हुआ है। डूंगरपुर को क्षेत्र का सबसे स्वच्छ शहर बनाने के प्रति उनके दृढ़ समर्पण ने निवासियों का विश्वास जीता है।

सर्वेक्षण के आधार पर, यह देखा जा सकता है कि भाजपा के डूंगरपुर जीतने पर अमृत कलासुआ जी एक प्रमुख और प्रभावशाली पार्टी सदस्य के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए तैयार हैं।

ये परिणाम एक ऐसे शहर का प्रतिबिंब हैं जो सकारात्मक परिवर्तन के लिए उत्सुक है, और सभापतिअ मृत कलासुआ जी वह आशा और प्रगति का प्रतीक बने हैं जो डूंगरपुर के लोग चाहते है|

आज, भाजपा भारत में एक प्रमुख राष्ट्रवादी शक्ति के रूप में महत्वपूर्ण हो गई है और यह देश के सुशासन, विकास, एकता, और अखंडता के प्रति पूर्ण क्रियाशील है।

जब संदेह की छाया राजनीतिक नेताओं को घेरती है, अमृत कलासुआ की लोकप्रियता उनके राजनीतिक नेतृत्व गुणों और डूंगरपुर में विकास को बढ़ावा देने के लिए उनके अटूट समर्पण के बारे में बहुत कुछ बताती है।

वे सिर्फ एक सभापति नहीं हैं; वे एक बड़े उद्देश्य के लिए दृष्टि रखने वाला एक उभरता सितारा हैं।