भारत के तेजी से उभरते लॉजिस्टिक्स उद्योग को गति देने के लिए लॉजिमैट इंडिया रोडशो का मुंबई में आयोजन

बिज़नेस

मुंबई, 10 जनवरी, 2024: देश की वित्तीय राजधानी के लॉजिस्टिक्स उद्योग को विकास के नए आयाम देने के लिए लॉजिमैट इंडिया रोडशो का आयोजन 9 जनवरी, 2024 को मुंबई के पार्ले इंटरनेशनल में किया गया है। भारत की सबसे बड़ी लॉजिस्टिक्स प्रदर्शनी लॉजिमैट इंडिया से मुंबई के व्यापर जगत को जोड़ने के लिए यह रोडशो विश्व की जानी मानी एक्सहिबिशन कंपनी मेस्से स्टुटगार्ट की और से एक पहल है। भारतीय लॉजिस्टिक्स क्षेत्र की प्रगति को नयी ऊंचाइयों तक ले जाने के उद्देश्य से भारत में पहली बार विश्व की सबसे बड़ी इंट्रालॉजिस्टिक्स प्रदर्शनियों और व्यापार मेलों में एक लॉजिमैट इंडिया का आयोजन होने जा रहा है

मुंबई भारतीय लॉजिस्टिक्स दृश्य में एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यहाँ का पोर्ट देश के कंटेनर ट्रैफ़िक का 65% से अधिक हैंडल करता है, एक अच्छी तरह से विकसित सड़क नेटवर्क है, और मजबूत रेल जुड़ाव है जो मुंबई को देश की लॉजिस्टिक्स राजधानी बनता है हालांकि, लागत अनुकूलन और प्रौद्योगिकी नवाचार जैसी चुनौतियाँ बही भी बरकरार हैं, जिनसे निपटने के लिए लॉजिमैट इंडिया विश्व के सबसे बड़े समाधान मंच के रूप में कार्य करेगा

 28 फरवरी से 1 मार्च 2024 तक, दिल्ली एनसीआर के IEML में लॉजिमैट इंडिया देश की सबसे बड़ी लॉजिस्टिक्स प्रदर्शनी बनने के लिए पूरी तरह से तैयार हैयह उद्योग विशेषज्ञों, प्रौद्योगिकी के दिग्गजों , और नवाचारी समाधानों का एक महत्वपूर्ण केंद्र बनने को तत्पर है

मुंबई रोड शो, लॉजीमैट इंडिया 2024 की प्रस्तावना में

उद्योग जगत के दिग्गजों जिसमें जुंगहेनरिच, जो सामग्री प्रबंधन समाधानों का प्रदर्शन करेगा; सिस्टम लॉजिस्टिक्स, नवीन गोदाम स्वचालन के लिए प्रसिद्ध; ऐडवर्ब, रोबोटिक स्वचालन में अग्रणी; नीलकमल लिमिटेड, भंडारण समाधान में अग्रणी; एटीसी ग्लोबल लॉजिस्टिक्स, एंडटूएंड लॉजिस्टिक्स पर केंद्रित; रोजर्स, आपूर्ति श्रृंखला समाधान में एक प्रमुख खिलाड़ी; और कॉग्नेक्स इंडिया, विज़न टेक्नोलॉजी में अग्रणी कंपनी शामिल हैं को लॉजीमैट इंडिया 2024 के मुंबई रोड शो में आमंत्रित करता है यह प्रतिष्ठित लाइनअप अत्याधुनिक लॉजिस्टिक्स समाधानों में अंतर्दृष्टि का वादा करता है, जो लॉजिमैट इंडिया के लिए एक सक्षम मंच तैयार करता है।

लॉजिमैट इंडिया को सम्मानित साझेदारों का भी समर्थन प्राप्त है, जिनमें इन्वेस्ट इंडिया, स्टार्टअप इंडिया, एयरकार्गो एसोसिएशन ऑफ इंडिया, एसोसिएशन ऑफ मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट ऑपरेटर्स ऑफ इंडिया, फ्रेट फॉरवर्डर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया और नॉलेज पार्टनर्स गति शक्ति विश्वविद्यालय (भारत सरकार), जेएलएल और यूरो एशिया कंसल्टिंग इंटरनेशनल शामिल हैं।