दक्षिण अफ्रीकी सांसद नासिक के युवा से ले रहे हैं मार्गदर्शन

देश दुनिया

जब झिरो दिया मेरे भारत ने दुनिया को तब गिनती आयी

तारों की भाषा भारत ने दुनिया को पहले सिखलायी

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व सांसद और उनके परिवार के साथ नासिक के एक युवक की  होटल ताज – मुंबई में एक अचानक ही बैठक हुई। वह युवक कोई और नहीं बल्कि डॉ. शिवप्रसाद महाले है जिनको  हम सभी जानते हैं।  इस बैठक में मुख्य रूप से दक्षिण अफ्रीका में होने वाले चुनावों को लेकर सामयिक चर्चा हुई और अन्य बहुत महत्वपूर्ण विषय जैसे की  दक्षिण अफ्रीका के लोगों की मानसिकता और वहां के किसानों और उद्यमियों की समस्याओं पर भी विस्तृत चर्चा हुई।

साथ ही इसके अलावा, आज दुनिया में कई समस्याएं हैं जैसे पारिवारिक समस्याएं, युवाओं की समस्याएं, विवाहित जोड़ों का तलाक आदि। उन्होंने उन्हें इस बात से भी गहराई से अवगत कराया कि यदि इस मानसिक स्थिति को ठीक करना है तो प्रत्येक व्यक्ति में ऊर्जा भरना आवश्यक है और इसके लिए प्रत्येक व्यक्ति स्वयं पर, अपने मनमंदिर पर यानी आंतरिक जगत पर काम करें, ताकि वो आसानी से बाहरी दुनिया पर हावी हो सकते है और बाहरी दुनिया खुदबखुद ही हमारे अनुरूप हो जाती है, जब कोई व्यक्ति मानसिक रूप से रीचार्ज हो जाता है तभी वह वास्तव में अपने क्षेत्र की सभी समस्याओं से डिस्चार्ज  हो पाता है। और यह मानसिक रूप से, आंतरिक रूप से सक्षम व्यक्ति के कारण उसका परिवार , परिवार के कारन पूरा समाज, समाज से प्रेरित होके  एक पूरा शहर इस प्रकार पूरे निर्वाचन क्षेत्र रिचार्ज  हो सकता हे और तभी हर एक व्यक्ति अपने प्रतिनिधियों को ठीक से चुनने में सक्षम होता है, इतने सरल लेकिन गहन विषय पर अपनेही  अंदाज में बहुत ही सरल तरीके से  डॉ. शिवप्रसाद महाले ने उन्हें समझाया।

उपरोक्त सभी गहन चर्चाओं के अंत में, कई प्रश्नों का समाधान बहुत ही असाधारण तरीके से किये जाने के कारन दक्षिण अफ्रीका के उनके निर्वाचन क्षेत्र के लोगोको रिचार्ज करने का एक हल्कासा प्रस्ताव यह सांसद ने डॉ. शिवप्रसाद महाले  के सामने व्यक्त कीया .

अगर आपको डॉ. शिवप्रसाद महाले पता नहीं है तो हम बताते हैं डॉ. शिवप्रसाद महाले राज्यपाल पुरस्कार से सम्मानित India’s Leading Spiritual Surgeon, Aspiring Life Coach, Inspirational Speaker और Shiv’s Ignited World के संस्थापक समाज में बहुमूल्य योगदान देने के उनके प्रयासों के लिए पहचाने जाते हे। महज ३५ साल की उम्र में समाज के लिए कुछ करने की उनकी इच्छा और हमेशा अपने विभिन्न माध्यमों/गतिविधियों  से समाज को जागृत करने का इरादा – उनके प्रयास वास्तव में उल्लेखनीय हैं क्योंकि उन्होंने दुनिया भर में महान ऊंचाइयों को छू लिया है और राष्ट्रीय – अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उनकी प्रशंसा की जा रही है।

डॉ. शिवप्रसाद महाले की वर्तमान में लोकप्रिय अनूठी पहल *” शिवयान “* जो पूरे भारत में राष्ट्रीय स्तर पर शुरू की जा रही है, जल्द ही दक्षिण अफ्रीका में भी बड़े पैमाने पर लागू की जाएगी। इस प्रकार ” शिवयान ” पहल की भारत के बाहर भारी मांग हो रही है। फिर भी उन्होंने अपने देश भारत को सबसे पहले प्राथमिकता दी है, जिसका मुख्य स्रोत हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की दूरदर्शिता है, जिसको सामने रखते हुए  डॉ. शिवप्रसाद महाले एक नए भारत का निर्माण करना चाहते हैं जो समय की मांग भी है और ऐसे भारत के निर्माण के लिए युवा पीढ़ी को उचित आकार देना आवश्यक है। इसीलिए डॉ. शिवप्रसाद महाले को हमारे भारत के हर व्यक्ति को नई ऊर्जा-नई शक्ति से रिचार्ज करना और उन्हें जीवन जीने की नई राह दिखानी हे जिसकेलिए वह निरंतर प्रयत्नशील हैं |  इसमें कोई संदेह नहीं कि उनकी राष्ट्रीय पहल *” शिवयान “* निश्चित रूप से हमारे जीवन में खुशियों का पासवर्ड हो सकती है।